Menu

दिल्ली में अवैध पार्किग को लेकर NGT ने लगाई MCD और Delhi Government को फटकार

दिल्ली में अवैध पार्किग और उपयुक्त पार्किग की सुविधाओं को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने दिल्ली सरकार और तीनों नगर निगम निगमों की कड़ी फटकाक लगाई है। जिसमें वाहनों के लिए उपयुक्त पार्किंग सुविधाएं उपलब्ध कराने और रोड-साइड  अवैध पार्किंग को हटाने के लिए कड़े निर्देश जारी किए है।Also Read: SIAM INDIA के जारी पेसेंजर कारों की ब्रिक्री के आकंड़ों से उड़ी ऑटोमोटिव मार्केट की नींद

एनजीटी के अध्यक्ष न्यायमूर्ति स्वतंत्ररण कुमार की अगुआई वाली पीठ ने इन दोनों के आला अधिकारियों से कहा है कि वह पार्किंग के लिए दिए हुए पहले के आदेशों का पालन करवाने के लिए उचित व ठोस कदम उठाने के लिए कहा।

पीठ ने पूछा कि कारों के लिए पार्किंग क्यों नहीं?

इस बाबत पीठ ने पूछा है कि आखिर आपने कारों के लिए समुचित पार्किंग स्थान क्यों नहीं बनाया गया ? आप जैसे लोग ही दो-तीन लेन की पार्किंग बनाने और सड़कों पर अव्यवस्था फैलाने के लिए जिम्मेदार हैं। आखिर आप नियमों का उल्लंघन करने वाले उन ठेकेदारों का लाइसेंस रद्द क्यों नहीं करते? जिनको लेकर काफी परेशानी देखी जा रही है।Also Read: कोहरे में कार ड्राइंविंग के कुछ जरुरी टिप्स

इसके आगे एनजीटी ने कहा कि अगर नई कारों को पंजीकरण की मंजूरी दी जाती है तो उनकी पार्किंग के लिये उचित जगह भी अवश्य देनी चाहिए। जिसका उदाहरण सरोजनी नगर मल्टीपार्किंग  है ,जो कई समय से खाली पड़ी लेकिन कुछ आपकी लापरवाही के चलते वहां के ठेकेदार मानक राशि की जगह मनमानी राशि लेते है, जिसके कारण वाहन चालक सड़कों पर वाहन खड़ा करने को मजबूर हो जाते है और इस तरह सड़क पर यातायात की भीड़-भाड़ में और इजाफा होता है।

इस उदाहरण के बाद पीठ ने सभी सरकारी अधिकारियों, निगमों और एनडीएमसी को  कड़े आदेश के साथ इस तरह की अनियमितताओं को दूर करने के लिए तत्काल रुप से प्रभावी कदम उठाने को कहा है,

जिससे सड़को पर पैदल यात्रियों को चलने के लिए भरपूर स्थान मिल सके और सड़क पर हो रही अवैध पार्किग के चलते वाहन दुर्घटनाओं से राहत मिल सके ।Also Read : अब बिना पार्किंग प्रूफ के नहीं खरीद सकेंगे कार

Comments 0
Leave a Comment