Menu

दुनिया भर की सभी गाड़ियों में हो फोंग लैंप अनिवार्यः आईआरएफ

पूरे उतरी भारत में कोहरे का कहर जारी है ऐसे में हाइवे आदि पर कारों से होने वाली दुर्घटनाएं की खबरों से सामना होना आम बात है लेकिन इन बात आम सी दिखने वाली खबरों में किसी की जिंदगी जाने का खतरा रहता, जिसे देखते हुए इंटरनेशनल रोड फेडरेशन ने दुनिया भर की सभी गाड़ियों में फोंग लैंप लगाना अनिवार्य बनाने को कहा है । Also Read : कोहरे में कार ड्राइंविंग के कुछ जरुरी टिप्स

क्योंकि दुनिया भर में बेहतर एवं सुरक्षित सड़कों के लिए काम करने वाले जेनेवा स्थित इंटरनेशनल रोड फेडरेशन ने जानलेवा सड़क दुर्घटनाओं की बढ़ती संख्या और कोहरे की वजह से गाड़ियों की टक्कर पर चिंता व्यक्त कीहै । 

संस्थान की तरफ से एक शोध में पाया गया कि कोहरे से होने वाली दुर्घटनाएं ज्यादातर दिसंबर से फरवरी महीने में होती है।इसलिए संस्थान का मानना है कि इन हादसों से बचने के लिए गाड़ियों में फोग सैंप अनिवार्य कर दिया जाए ।Also Read: 2018 AUTO EXPO जानिए कौन- सी कारें उडायेंगी अपके होश

इस अपील पर आईआरएफ के अध्यक्ष के. के. कपिला ने कहा, ' अंतर्राष्ट्रीय शोध के मुताबिक कोहरे वाले महीनों में गाडियों में बेहतर लाइटिंग होने के कारण यह हादसे कोहरे के महीने व पहाड़ी इलाकों में 30 प्रतिशत से ज्यादा तक कम करते है।

 कोहरे की स्थिति गाड़ी चलाने वालों के लिए खतरनाक है ऐसी स्थिती में आगे एवं पीछे फॉग लाइट होने से वाहनों के आपस में टकराने या अन्य चीजों से टरकाने की संम्भावना कम हो जाती है। इसलिए यब फॉग लैंप बारिश, कोहरा, धूल या बर्फबारी की वजह से कम दृश्यता की स्थिति में बेहद उपयोगी साबित होते हैं।Also Read: ये है 7 लाख से शुरू. होने वाली 4 बेस्ट 4X4 एसयूवी

संघ के अध्यक्ष कपिला के मुताबिक, 'यूरोप में कोहरे जैसी स्थिति में बेहतर दृश्यता के लिए मानक सुविधा के रूप में गाड़ियां फ्रंट एवं रियर फॉग लाइट्स से लैस होती हैं। हालांकि, कोहरे की स्थिति में दुर्घटना के जोखिम को खत्म करने के लिए सिर्फ फॉग लाइट्स लगाना ही एकमात्र उपाय नहीं होगा बल्कि सुरक्षित ड्राइविंग के लिए बेहतर माहौल बनाने में सरकार के साथ-साथ वाहन चालकों और सामाजिक संस्थाओं को भी दूसरे उपाय करने होंगे।'

कपिला के मुताबिक, 'आईआरएफ ने शहरी इलाकों और हाईवे पर कोहरे वाली चिह्नित जगहों पर सामाजिक संस्थाओं की ओर से भी स्मार्ट सेंसर से लैस स्ट्रीट लाइट लगाने की जरूरत पर जोर दिया है ताकि कोहरे से मुकाबला कर बहुमूल्य मानव जीवन को बचाया जा सके।'  

जिनेवा इंटरनेशनल रोड फेडरेशन की इस अपील को यदि भारत सरकार मान ले  तो देश में ठंड के महीने में कोहरे की चपेट में आने से होने वाली दुर्घटनाओं को काफी हद तोक रोका जा सकता है। Also Read : 'ऑटो एक्सपो - द मोटर शो 2018' इस बार 7 से 14 फरवरी के बीच आयोजित होगा

 

Comments 0
Leave a Comment